बुधवार, 12 नवंबर 2008

जीवन जीने के मंत्र

  • मनुष्य की सबसे बड़ी शक्ति, उसके द्बारा चाहे गए परिणामों को प्राप्त करना है।
  • आप जैसा चाहेंगे पा लेंगे।
  • आप जैसा बनना चाहेंगे बन जायेंगे।
  • सफलता की सीढ़ी सदा ऊपर की ओर जाती है।

(आशुतोष पाण्डेय)

2 टिप्‍पणियां:

ummed Singh Baid "saadahak " ने कहा…

पूरा सहमत आपसे, ऊँचा रखाना लक्ष्य.
जो चाहो सो बन सको, चाहत ही है मुख्य.
चाहत सबसे मुख्य,समझ भारत यह भाषा.
अपनेपन में झांक, बची केवल यह आशा.
यह साधक भी बात यही कहता है आपसे.
ऊँचा रखना लक्ष्य, मैं पूरा सहमत आपसे.

GEET Education ने कहा…

उमेद जी प्रतिक्रिया के लिए साधुवाद, चाहत इंसान से असंभव काम भी करवा देती है।
मन के जीते जीत है, मन के हारे हार।
मैं छात्रों को सफलता के सूत्र सिखाता हूँ।
हर विषय को आसन कर कैसे पढें, सिखाता हूँ।
उनकी अन्दर सोई प्रतिभा जगाता हूँ।
कोई बुलाये शहर अपने तो सिखाने आता हूँ।
आशुतोष पाण्डेय